any content and photo without permission do not copy. moderator

Protected by Copyscape Original Content Checker

सोमवार, 8 अगस्त 2011

दिलवालों- दिल्लीवालों - ये मौका तुम मत गंवाना.....क्योंकि---- "सरकारी लोकपाल बिल धोखा है - देश बचालो मौका है" ...........



16 अगस्त को अन्ना हजारे अनशन करने जा रहे हैं...........कहने को तो ये अनशन अन्ना हजारे कर रहे हैं...लेकिन हकीकत में वो और उनकी टीम ये अनशन जनता के दम पर कर रही है.............जिसको लेकर कांग्रेस की यूपीए सरकार का चिंतित होना लाजमी है......कांग्रेस के तथाकथित बड़े नेता जब-तब ये कह रहे हैं कि वे ही लोकतंत्र के सच्चे सेवक हैं...........और अन्ना को अगर अपना बिल लागू करवाना है तो वे चुनाव लड़लें....और संसद मे बहुमत में आकर अपना बिल पेश करें.................खैर ज्यादा गहराई में जाने की जरूरत नहीं है...........आपने वो कहावत तो सुनी होगी कि '' ना नौ मन तेल होगा...और ना राधा नाचेगी''.... शायद ऐसा ही कुछ कहावत है........मेरे कहने का मतलब ये है कि इन नेताओं ने लोकतंत्र के नाम पर ऐसा तंत्र खड़ा कर रखा है कि आम आदमी चुनाव लड़ने की सोच ही नही सकता....धर्म-जाति...धनबल-बाहुबल- परिवारवाद का ऐसा जाल बुन दिया गया है कि आम आदमी चुनाव लड़ने की कभी सोचे ही न....आज के जमाने में चुनाव तो सिर्फ प्रणव मुखर्जी के बेटे ही लड़ सकते हैं....या प्रतिभा देवी सिंह पाटिल के बेटे...या फिर अन्य नेताओं के बेटे......इन नेताओं ने जाल खुद बुना है....और वे अन्ना को चुनाव के जाल में उलझाने का ऑफर दे रहे हैं......जो कि सरासर धोखा है.....हालांकि अन्ना इस धोखे में आते नहीं दिख रहे हैं....लेकिन अन्ना को मालूम होना चाहिए कि जनता उनके पीछे चलने को तैयार है तो इसलिए कि वे राजनेताओं के वादों और इरादों से तंग आ गये हैं...अब इन नेताओं से छुटकारा पाने के लिए जनता किसी (जरा अलग ) के भी पीछे चलने को
तैयार है...पहले बाबा रामदेव के पीछे चलकर लाठी खाई...और अब अन्ना एण्ड कम्पनी के साथ चलने को तैयार है....अन्ना अपना अनशन वापस न लें और वार्ता के भ्रम मे भी न पड़ें..................दिल्ली मे रहने वाले बहुत लकि हैं कि वे अन्ना के अनशन में भाग लेने का मौका मिलेगा............उम्मीद है कि आम नागरिकों का हक खाने वाले नेताओं को औकात बताने का बेहतरीन मौका कोई दिल्नी-वासी छोड़ना नही चाहेगा.......मेरी भी बहुत इच्छा है कि मै दिल्ली आकर अन्ना के अनशन में शामिल होऊं.....कोशिश करूंगा.......मै गुजारिश करूंगा कि जो कोई दिल्ली में न रहता हो...16 अगस्त को वो जहां रहे...वहीं से यथा संभव स्थानीय स्तर पर हो रहे अनशन-धरना-प्रदर्शन में शामिल होकर देश से भ्रष्टाचार को मिटाने में अन्ना का सहयोग करे..........लेकिन दिलवालों- दिल्लीवालों ये मौका तुम मत गंवाना....................................क्योंकि - "सरकारी लोकपाल बिल धोखा है - देश बचालो मौका है" ...........

3 टिप्‍पणियां:

  1. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  2. Bhai Mera BHI MAN KAR RHA HAI KI MEIN BHI ANNA KE ANSHAN ME SAHMIL HO JAU ........... LEKIN KYA KARU ME IS SAMAY WARDHA ME HU...... HA MEINE RAMDEV KI PANTJALI ME JAKAR.......... UNKE ANSHAN ME SAHMIL ZARUR HUA .......... WAHA SE MEINE APNE EK SAHYOGI KO UAS PAR ZABARDAST PHONO BHI DIYA ............. BADA ACHHA LAGATA MUJHE IS TARH KE KARAKARM ME SHAMIL HONA.............. ANAA KE KARYKARAM ME SHAMIL NAHI HONA MERE LIYE BADE HI DURBHGAYE KI BAAT HAI ........... KHER ME HAR NAVYUVAK SE GUZARISH KARUNGA KI ........... ANNAA KE IS PARDARSHAN KA HISSA ZARUR BANE ........... OR BHIRASHTACHARIYO KE VIRUDH AWAZ UTHAYE.........

    उत्तर देंहटाएं