any content and photo without permission do not copy. moderator

Protected by Copyscape Original Content Checker

शुक्रवार, 10 सितंबर 2010

अ लोट केन हेप्पेन ओवर कोफ्फ़ी.....




दोस्तों ये जो मैंने शीर्षक दिया है ......ये देहरादून कि एक स्वीट कि शॉप का नाम है....यह दुकान एक देहरादून कि मशहूर दुकान है .......इस दुकान में एक बड़ा एल. सी. डी. टीवी लगा है .....
में इस दुकान के पास खड़ा आपनी गाड़ी का इंतज़ार कर रहा था ...तभी एक चमक दमक वाली गाड़ी से उतरी दो नव युवती जो फोन पर किसी से हँस-२ कर बात कर रही थी ...वो दोनों इस दुकान के अन्दर कुछ खरीदने के लिए जाती है ..... जब मेरी नज़र इस बड़े एल. सी डी टीवी पर पड़ी तो उस पर फेसन चैनल का कोई प्रोग्राम चल रहाथा ...जिस पूर्ण रूप से नग्न प्रदर्शन कों परोसा जा रहा था ....कुछ लडकिया रेम्प पर चल कर एक दुसरे कों निहाररही थी ...
तो फिर मैंने मन में एक विचार आया कि देश के बड़े -२ शोपिंग माल पर लगे बड़े -२ एलसीडी और उनपर चलते ज्यादातर फेशन , एम् टीवी, वी,. चैनल ........ इत्यादि ग्लेमररायिज़ेसनसे जुड़े तमाम चैनल जो आज काल के नव युवाओ कों अपनी और आकर्षित करते है ..... जिस कि चाह में हर एक नव युवक -युवतिया हर चीज़ शोपिंग माल से ही खरीदना पसंद करते है .....जेसे युवा पिज्जा हट, केडबरी, स्नेकक्स ...........आदि। आप कभी भी आपको इन जगह पर ज्ञानवर्धक चीज़े न ही सुनने कों मिलेगी ..और ना ही देखने कों मिलेगी .... इस ग्लोबलाईजेसन कि चका चोंद्द कि रौशनी में अंधे ये युवा अपने विचारो कों अँधेरे में धकेल रहे रहे है ....
कहने का मतलब ये है कि इस प्रकार के तमाम चेंनेलो पर नग्नता के अलावा कुछ और नहीं परोसा जारहा है ......

1 टिप्पणी:

  1. nagnata aur ardhnagnata ko manzoori dene vaale hum kaun hote hai jisko jin kapdo ko pahanna achha lagega vo vahi pahnega.rahi baat t.v par shows kee to aise serial jinme aap saarokaar dhoond sake unhe dhoonde bahut sare gambheer mudde hamaari kalam kaa intzaar kar rahe hai..mudddo ko pahchaniye phir likhiye achhe pratikriya khud ba khud milegi..aur haan buri mile to samajhiye kee aap sudhaar karne lagenge..

    उत्तर देंहटाएं